google.com, pub-4651590890763792, DIRECT, f08c47fec0942fa0

EPFO 230th meeting of CBT highlights 2022 | सीबीटी की बैठक में क्या हुआ

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री भूपेंद्र यादव की अध्यक्षता में गुवाहाटी में दिनांक 11-12 मार्च 2022 को ईपीएफओ CBT की बैठक हुई। यह केंद्रीय न्यासी बोर्ड, ईपीएफ की 230वीं बैठक हुई, जिसमें केंद्रीय बोर्ड ने ब्याज दर के अलावा निम्नलिखित महत्वपूर्ण निर्णय लिए –

EPFO 230th meeting of CBT highlights 2022

  • बोर्ड ने ईपीएफओ द्वारा प्रबंधित योजनाओं के लिए वर्ष 2020-21 के संशोधित अनुमानों और वर्ष 2022-23 के बजट अनुमानों को भी मंजूरी दी।
  • बोर्ड ने बाह्य समवर्ती लेखा परीक्षक, कस्टोडियन के कार्यकाल के विस्तार और एसबीआई एमएफ और यूटीआई एमएफ की समयावधित को ईटीएफ निर्माताओं के रूप में 31.03.2022 तक या नियुक्तियों तक जो भी पहले हो, तक की पुष्टि की।
  • EPFO/CBT बोर्ड ने पीएफ की ब्याज दरों में कटौती करते हुए, वित्तवर्ष 2021-22 के लिए 8.10% ब्याज दर की घोषणा की।
  • बोर्ड को सूचित किया गया था कि 2022 के फरवरी महीने के दौरान इक्विटी निवेश का शोधन किया गया था जिसके परिणामस्वरूप 5529.7 करोड़ रुपये के पूंजीगत लाभ की प्राप्ति हुई थी जो वित्त वर्ष 2021-22 की आय में शामिल किया जाएगा। इस निवेश पर प्रतिफल की वार्षिक दर 13.91 प्रतिशत थी जो पिछले तीन वर्षों में सबसे अधिक है।
  • बोर्ड ने ईपीएफओ के पोर्टफोलियो में एयर इंडिया के गैर-परिवर्तनीय ऋणपत्र (एनसीडी) को भुनाने के निर्णय की पुष्टि की। इस शोधन से ईपीएफओ को 7772.50 करोड़ रुपये के अंकित मूल्य के विरुद्ध 8944.32 करोड़ रुपये वसूल करने में मदद मिली।
  • बोर्ड ने डाउनग्रेड की गई प्रतिभूतियों से बाहर निकलने के लिए निकास नीति और संबंधित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) को मंजूरी दी।
  • बोर्ड ने बजट शीर्ष पूंजीगत व्यय/कार्यालय आवास किराए पर लेने के तहत खर्च के लिए सीपीएफसी के प्रशासनिक और वित्तीय शक्तियों के प्रतिनिधिमंडल को बढ़ाने की मंजूरी दी।
  • बोर्ड ने एचआर/प्रतिष्ठानों की तदर्थ समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे दी, डाईंग कैडर अर्थात समाप्त किए जाने वाले संवर्गों को प्रोन्नति प्रदान करने का मार्ग प्रशस्त करते हुए समूह बी और सी संवर्गों में रिक्तियों को समयबद्ध तरीके से भरने, आयुक्त संवर्ग के लिए स्थानांतरण नीति और प्रशिक्षण नीति तथा ईपीएफओ की क्षमता निर्माण योजना को मंजूरी दी गई। खेल और सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए आवंटित कल्याण निधि को बढ़ाया जाएगा। पांच फीसदी खेल कोटा की रिक्तियों को उपयुक्त उम्मीदवारों से भरा जाएगा और इन रिक्तियों को भरने के लिए एक वस्तुनिष्ठ मानदंड निर्धारित किया जाएगा।
  • बोर्ड ने वेतन सीमा तक ईपीएफओ की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत सभी को सार्वभौमिक कवरेज सुनिश्चित करने के लिए कवरेज और संबंधित मुकदमेबाजी पर तदर्थ समिति की सिफारिशों को मंजूरी दी। बोर्ड गिग और प्लेटफॉर्म वर्कर्स के लिए सामाजिक सुरक्षा कवरेज का विस्तार करने पर भी सहमत हुआ।
  • बोर्ड ने तदर्थ आईटी और संचार की सिफारिशों को बुनियादी ढांचे, अनुप्रयोगों, क्षमता निर्माण, व्यावसायिक प्रक्रियाओं को आगे बढ़ाने और शासन तंत्र की स्थापना के लिए अनुमोदित किया।
  • CBT बोर्ड ने पेंशन सुधारों की तदर्थ समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे दी ताकि ईपीएस-95 से लाभ बढ़ाने के लिए संभावित उपायों का सुझाव देने के लिए पेंशन और सामाजिक सुरक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञों का एक टास्क फोर्स गठित किया जा सके। इस टास्क फोर्स में पीएफआरडीए, एलआईसी, वीवीजीएनएलआई के सदस्य, दो स्वतंत्र बीमांकक, कुछ प्रतिष्ठित निवेश फर्मों/म्यूचुअल फंड कंपनियों के मुख्य निवेश अधिकारी, वित्तीय या कोई अन्य विशेषज्ञ शामिल होंगे।

श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा की अंतराष्ट्रीय परिस्थिति और इक्विटी बाजार को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है की अब पीएफ खाताधारकों को मिलने वाले ब्याज की दर में पहले की अपेक्षा 0.40% की कटौती की जाती है और सीबीटी की बैठक में वित्तवर्ष 2021-22 के लिए 8.10% ब्याज दिया जायेंगा। इस प्रस्ताव को वित्तमंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद, राजपत्र जारी कर पीएफ खाताधारकों को वितरित किया जायेंगा।

यह भी पढ़े :

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published.