google.com, pub-4651590890763792, DIRECT, f08c47fec0942fa0

ईपीएस 95 न्यूनतम पेंशन 5000/- नहीं 7500+डीए हो, BMS करे पुर्नविचार – राउत

eps 95 minimum pension latest news 2022 : देश के बड़े मजदुर संघठन बीएमएस (भारतीय मजदुर संघ) ने ईपीएस 95 न्यूनमत पेंशन 5000/- रुपये प्रति महीने करने की मांग के साथ घोषणा की है की, यदि सरकार उनकी मांगे नहीं मानती है तो 20 जनवरी को ईपीएफओ के कार्यालयों पर धरना प्रदर्शन कर वित्तमंत्रालय को ज्ञापन सौपे जायेंगे। आपको बता दे की मौजूदा समय में ईपीएस 95 पेंशनधारको को 1000 रुपये न्यूनतम पेंशन दी जा रही है।

NAC के कमांडर अशोक राउत ने BMS महासचिव को लिखा पत्र।

एनएसी (राष्ट्रिय संघर्ष समिति) के राष्ट्रिय अध्यक्ष कमांडर अशोक ने बीएमएस (भारतीय मजदूर संघ) के महासचिव को एक पत्र लिखा है और इसकी प्रतिलिपि मा. प्रधानमंत्री जी/मा.वित्तमंत्री जी/मा.श्रममंत्री जी /मा.डॉ. जितेंद्र सिंह जी/मा. श्रीमती हेमामालिनी जी/मा.CPFC सहित सभी मा.सीबीटी सदस्यगण (कर्मचारी प्रतिनिधि) को भेजी गई है।

पत्र में मा. महासचिव ,BMS को लिखा हैं कि, आपसे संघठन की ओर से हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि कृपया तात्कालिक अंतरिम राहत के रुप में रु.5000 की मांग रखी जा सकती है। लेकिन इसपर पुनर्विचार कर रु.7500+DA की मांग को आगे बढ़ाया जाये। ईपीएफओ के पत्र दिनांक 23.03.2017 के अनुसार उच्च पैशन की सुविधा की मांग को भी आगे बढ़ाया जाये। आपको यह भी सादर सूचित करना है कि यदि रु.7500+DA की मांग व उच्च पैंशन की सुविधा की मांग को एक साथ मंजूर किया जाता है तो उच्च पैंशन का विकल्प चुनने वालों की संख्या नगण्य ही रहेगी.

आशा ही नहीं बल्कि, हमारे संघठन के व EPS 95 पेंशनर्स के शुभचिंतक होने के नाते हमें पूर्ण विश्वास है कि आप पुनर्विचार कर उपरोक्त मांगो को मंजूर करवाने में पूर्ण प्राण प्रण से सहयोग करेंगे जिससे कि EPS 95 पेंशनर्स को अमानवीय पेंशन राशि मिलने व मेडिकल सुविधा के अभाव में मरने से बचाकर सुरक्षित रखा जा सके।

महोदय, आपको ज्ञातव्य हो कि NAC के द्वारा ” EPS 95 पेंशनर्स बचाओ राष्ट्र व्यापी महाअभियान कार्यक्रम ” का शुभारंभ दिनांक 07.01.2022 से ही हो चुका है, जिनमें एक देश के सभी EPF कार्यालयों के समक्ष धरना प्रदर्शन कार्यक्रम का भी समावेश है।

अभी क्या है eps 95 minimum pension की स्थति।

वर्तमान में सरकार के द्वारा ईपीएस 95 पेंशनर्स को न्यूनतम पेंशन 1000 रुपये प्रदान की जाती है। जो वर्ष 2014 से लागु है परन्तु अभी भी लगभग 28 लाख पेंशनर्स को 1000 न्यूनतम पेंशन का लाभ भी नहीं मिल पा रहा है। आपको अवगत हो की वर्ष 2013 में कोश्यारी समिति ने न्यूनतम पेंशन 3000 के साथ मंहगाई भत्ता देने की सिफारिश की थी जो अभी तक लागु नहीं हो पाई है। भारतीय मजदुर संघ न्यूनतम पेंशन 5000 करने की मांग कर रहा है। वही एनएसी न्यूनतम पेंशन 7500 के साथ मंहगाई भत्ते (DA) की मांग कर रही है।

यह भी पढ़े :

Add a Comment

Your email address will not be published.