वित्त सचिव और ईपीएफओ कमिश्नर के साथ ईपीएफ पेंशन पर अशोक राऊत की बैठक

NAC, Ashok Raut special meeting with Finance Secretary, Government of India and EPFO Commissioner – मा.वित्त सचिव, भारत सरकार व मा सेंट्रल प्रोविडेंट फंड कमिश्नर के साथ NAC के राष्ट्रीय अध्यक्ष , श्री अशोक राऊत व प्रतिनिधि मंडल की ईपीएफ पेंशन वृद्धि पर त्रि-पक्षीय विषेश मीटिंग दिनांक 08.02.2022 को संपन्न हुई। बैठक के बाद एनएसी ने जल्द ही कोई ठोस निर्णय आने की उम्मीद जताई।

सांसद, हेमा मालिनी की अगुवाई में हुई बैठक संम्पन।

ईपीएफ पेंशन में वृद्धि के इस मुद्दे पर यह बैठक मा. श्रीमती हेमा मालिनी जी, सांसद, मथुरा की अगुवाई में वित्त मंत्रालय, दिल्ली में सम्पन्न हुई। साथ बैठक में मा. डॉ. श्री टी वी सोमनाथन जी वित्त सचिव के साथ उनके महत्वपूर्ण अधीनस्थ वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति रही। साथ ही मा. सुश्री नीलम शमी राव, सेंट्रल प्रोविडेंट फंड कमिश्नर के साथ उनके महत्वपूर्ण अधीनस्थ वरिष्ठ अधिकारियों की भी उपस्थिति रही।

NAC चीफ मा. कमांडर अशोक राऊत के साथ श्री वीरेन्द्र सिंह राजावत, राष्ट्रीय महासचिव, इंजी./एड. श्री कविश डांगे, राष्ट्रीय मुख्य न्यायिक सलाहकार, श्री आशाराम शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दक्षिण भारत के मुख्य समन्वयक श्री रमाकांत नरगुंड ने NAC की ओर से EPS 95 पेंशनर्स का प्रतिनिधित्व किया।

कमांडर अशोक राउत ने रखा ईपीएफ पेंशन वृद्धि के लिए पेंशनर्स का पक्ष।

पेंशनर्स की पेंशन वृद्धि के सन्दर्भ में मा.NAC चीफ के नेतृत्व में प्रतिनिधि मण्डल ने पेंशनर्स का पक्ष रखा व ईपीएफओ के उपलब्ध पेंशन फंड में जमा हो रहे अंशदान व ब्याज से ही मिनिमम पेंशन रु.7500/+DA प्रदान कर पेंशन वृद्धि की जा सकती हैं व उसके साथ साथ कॉरपस भी बढ़ता रहेगा, इस विषय पर NAC की ओर से तर्क, तथ्य व प्रमाण पर आधारित अति महत्वपूर्ण दस्तावेजों का प्रस्तुतीकरण प्रभावी ढंग से किया गया।

दस्तावेजों के प्रस्तुतीकरण के साथ ही इंजी. व एड. श्री कविश डांगे जी की अध्यक्षता में NAC द्वारा गठित “डांगे समिति” की रिपोर्ट भी उन्होंने प्रस्तुत की और NAC के प्रतिनिधि मण्डल में उपस्थिति सभी सदस्यों ने कुशलता पूर्वक पेंशनर्स का पक्ष मीटिंग में रखा।

मा. NAC चीफ ने कम पेंशन राशि मिलने के कारण पेंशनर्स की मरणासन्न अवस्था, पेंशनर्स की बढ़ती हुई मृत्यु दर, ईपीएफओ द्वारा किए गए वायदे, EPS पेंशनर्स के प्रति सौतेला व्यवहार, संगठन द्वारा पिछले 6 वर्षों में किए गए राष्ट्र व्यापी आन्दोलन, संबंधित महानुभावों द्वारा दिए गए आश्वासन व पिछले 1143 दिनों से NAC के मुख्यालय बुलढाणा में जारी क्रमिक अनशन आदि विभिन्न व अति महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर प्रकाश डालते हुए NAC की मांगो के अनुसार पेंशन वृद्धि कर, पेंशनर्स को शीघ्र न्याय प्रदान करने का निवेदन मा. वित्त सचिव जी से किया। साथ ही मा. वित्त सचिव जी, मा. सीपीएफसी महोदया सहित मा. श्रीमती हेमा मालिनी जी व मा. प्रधानमन्त्री जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए अपनी बात समाप्त की।

वित्त सचिव और सेन्ट्रल प्रोविडेंट फंड कमिश्नर महोदया ने उचित कार्यवाही का दिया आश्वाशन।

मा. वित्त सचिव महोदय ने NAC प्रतिनिधि मण्डल का पक्ष सुनने के बाद कहा कि प्रतिनिधि मण्डल के द्वारा सभी मुद्दों का प्रस्तुतीकरण बहुत ही सही ढंग से किया गया है व कुछ विषेश नए तथ्यों को प्रस्तुत किया गया है, जो निश्चित ही विचार करने योग्य है, यह कहते हुए इंजी. कविश जी डांगे के प्रस्तुतीकरण की विषेश प्रशंसा की व सेन्ट्रल प्रोविडेंट फंड कमिश्नर महोदया को अपना पक्ष रखने के लिए कहा।

मा.महोदया सुश्री नीलम शमी राव ने कहा कि NAC द्वारा जिन महत्वपूर्ण विंदुओं को प्रस्तुत किया गया है, उन पर निश्चित रूप से व नए सिरे से विचार कर योग्य कारवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े :

बजट से नाराज ईपीएफ पेंशनभोगी, मांगे नहीं हुई पूरी, प्रधानमंत्री को लिखेंगे पोस्टकार्ड।

PF kya hota hai hindi पीएफ क्या होता है ? पीएफ कितना कटता है ?

Budget 2022 highlights in Hindi : बजट 2022 की बड़ी बाते

8 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.